in

शीर्ष ५ – आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियाँ

Emergency Contraceptive Pills

You Can Also Read This Story In: enEnglish (English)

अवांछित गर्भावस्था से बचने के लिये उपयोगी आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियाँ आजकल माहिलाओं में बहुत लोकप्रिय हो रहीं हैं| ये गर्भनिरोधक गोलियाँ असुरक्षित संभोग के फलस्वरूप होने वाली अवांछित या अनियोजित गर्भावस्था को रोकने का एक तरीका हैं। कई बार असुरक्षित एवं अनियोजित संभोग के कारणवश या पुरूष द्वारा पहने गये कंडोम की विफलता से उत्पन्न होने वाली गर्भावस्था की स्थिति से बचने के लिए,अधिकांश महिलाएँ इन गोलियों का इस्तेमाल करती हैं |

आमतौर पर इस्तेमाल की जाने वाली यें आपातकालीन गोलियों में एक हार्मोन लेव्नोरगेस्ट्रल (levonorgestrel) होता है , जो कि गर्भ/कोख में एक अनुपयुक्त वातावरण के निर्माण में मदद करता है जो भ्रूण के आरोपण को  रोकता है तथा अंडाशय से अंडे को निषेचित होने से भी रोकता है |आम तौर पर, ये गोलियाँ ९० फिसदी प्रभावशीलता को सुनिश्चित करती हैं, निर्भर करता है संभोग के बाद कितनी जल्दी आप इनका सेवन करती हैं | जितनी जल्दी आप गोली ले लेंगी , प्रभाव होने की संभावना उतनी अधिक होगी । आप इसका उपयोग संभोग के ७२ घंटे के भीतर भी कर सकती हैं। यह सर्वाधिक प्रभावी होती हैं  (९५ फिसदी के आसपास) जब इनका सेवन असुरक्षित संभोग बाद २४ घंटे के भीतर किया जाए ।

गर्भावस्था के सकारात्मक परिणामस्वरूप ये गर्भनिरोधक गोलियाँ प्रभावी नहीं होती है। हालांकि आजकल ऐसी गोलियों का इस्तेमाल काफी किया जा रहा हैं, फ़िर भी इसे सामान्य स्थिति में लेने एवं नियमित इस्तेमाल से बचना चाहिए अन्यथा कुछ अवांछित दुष्प्रभाव हो सकते हैं | आपातकालिन गोलियों के परिणामस्वरूप उल्टी, मतली, थकान, सिरदर्द, स्तन दर्द, अनिद्रा, आदि हो सकते है | इसके अलावा, हार्मोन की उपस्थिति के कारण मासिक धर्म चक्र में व्यवधान और अनियमित रक्तस्राव या अगले मासिक धर्म चक्र में देरी आदि भी इन्ही गोलियों के परिणाम है । महिलाओं द्वारा किये गये अवलोकन के अनुसार, आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियों के सेवन से गर्भवती होने की संभावना २० फिसदी अधिक होती है, अपेक्षाकृत नियमित गर्भनिरोधक विधियों से सिर्फ १ फिसदी होती है | इसलिए,आमतौर पर सामान्य गर्भनिरोधक विधियों का उपयोग करें और जब कोई और विकल्प ना हो तभी आपातकालीन गोलियों का उपयोग करना चाहिए।

बाज़ार में कई प्रकार की आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियाँ उपलब्ध हैं। कुछ लोकप्रिय और अच्छे परिणाम देने वाली आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियाँ हैं:

आई-पिल

यह एक ऐसी आपातकालिन गर्भनिरोधक गोली है जिसे असुरक्षित संभोग के ७२ घंटे के भीतर लिये जाने से गर्भावस्था और गर्भपात की संभावना बहुत कम हो जाती है। भारत में आई -पिल का मूल्य १०० रुपए है। यह गोली किसी भी निकटतम दवाई की दुकान से खरीदी जा सकती है। कुछ वेबसाइट्स भी ये गोलियाँ ऑनलाईन बेचती है, हालांकि हम ऑनलाईन किसी भी दवाई को खरीदने की सिफारिश नहीं करते विशेष रूप से आई -पिल जो समय के साथ एक महत्वपूर्ण कारक है। इन गोलियों को खरीदने के लिए किसी दुकान द्वारा भेजे गये वितरण लड़के का इंतज़ार करने से बेहतर है स्वयं चलकर निकटतम दवाईयों की दुकान से खरीद लें |

अनवौन्टेड ७२

अनवौन्टेड ७२ एक ओटीसी दवा है यानी दवाईयों की दुकान से आप बिना डाॅक्टर के पर्चे के सीधे इसे खरीद सकते हैं | इसमे लेव्नोरगेस्ट्रल हार्मोन १.५ मिलीग्राम होता है और इसका सेवन असुरक्षित संभोग के ३ दिनों के भीतर किया जाना चाहिए। अनवौन्टेड ७२ के दुष्प्रभाव अन्य गर्भनिरोधक गोलियों से अपेक्षाकृत कम होते है क्योंकि दोहरी हार्मोन गोलियों मे अवांछित गर्भावस्था से बचने के लिए लेव्नोरगेस्ट्रल हार्मोन के अलावा एस्ट्रोजन भी होता है । अवांछित गर्भावस्था से बचने के लिए एक गोली पर्याप्त है। यदि आप असुरक्षित संभोग के ७२ घंटे के बाद इस गोली को लते हैं तो इसके परिणाम विफल होने की संभावना अधिक है। भारत में अनवौन्टेड ७२ का मूल्य ८० रुपये है जिसे आप किसी भी दवाईयों की दुकान से खरीद सकते हैं |

प्रिवेनटोल

प्रिवेनटोल लेव्नोरगेस्ट्रल बी.पी. ०.७५ mg युक्त होती है | अवांछित गर्भावस्था की रोकथाम के लिए इसे ७२ घंटे के भीतर इस्तेमाल किया जाना आवश्यक है । भारत में प्रिवेनटोल का मूल्य ५० रुपये ( २ गोलियों की एक पट्टी के लिए) है ।

टी पिल ७२

यदि इसे संभोग के ७२ घंटे के भीतर उपयोग किया जाता तो यह प्रभावी होती है। भारत में टी-पिल-७२ का मूल्य ६८.५० रुपये  है।

ऊपर निर्दिष्ट सभी गोलियाँ प्रभावी हैं और किसी भी रसायनग्य के पास से खरीदी जा सकती है। कुछ अन्य आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियाँ बाजार में उपलब्ध हैं जैसे नॉर्लेवो, ईसीईई, शी -७२, ह्यान, अोह! गॉड , आॅप्शन ७२, आदि।

Written by Girlopedia Staff

Techie by profession blogger by hobby, founder of Girlopedia.

3 Comments

Leave a Reply
  1. नसबंदी जितना खतरनाक है उसके नुकसान के बारे में शायद कोई नहीं सोचता लेकिन आपको बता दें कि एक बार नसबंदी कराने के बाद पुरुष कभी दुबारा पिता नहीं बन सकता।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to Top
Close

Log In

Forgot password?

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy

To use social login you have to agree with the storage and handling of your data by this website.

Close